शादी की पहली रात दूल्हे ने जैसे ही हटाया दुल्हन का बुर्का..पैरों तले खिसक गई जमीन





सऊदी अरब में जब एक पति ने अपनी पत्नी का चेहरा देखा तो उसे देखते ही तलाक देने का फैसला कर लिया।




इन सब में चौंकाने बात यह हैं कि ये घटना उसकी शादी वाली रात हुई थी। ब.ता दे शादी से पहले इन दोनों दूल्हा-दुल्हन ने एक-दूसरे को नहीं देखा था।

शादी की पहली रात दूल्हे ने जैसे ही हटाया दुल्हन का बुर्का..पैरों तले खिसक गई जमीन
शादी की पहली रात दूल्हे ने जैसे ही हटाया दुल्हन का बुर्का..पैरों तले खिसक गई जमीन









जिसकी वजह से ये बात यहां तक आ पहुंची। इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने दूल्हे के खिलाफ जमकर विरोध जताया था।




लड़की का रो -रोकर बुरा हाल : सऊदी अरब के मदीना में रहने वाले एक शख्स ने अपनी शादी वाली रात में जब पहली बार अपनी वाइफ का चेहरा देखा,

शादी की पहली रात दूल्हे ने जैसे ही हटाया दुल्हन का बुर्का..पैरों तले खिसक गई जमीन
शादी की पहली रात दूल्हे ने जैसे ही हटाया दुल्हन का बुर्का..पैरों तले खिसक गई जमीन





तो इसके बाद उसने वहीं पर उसे तलाक दे दिया। बता दे ये घटना तब हुई जब शादी के दौरान फोटोग्राफर ने फोटो खींचने के लिए दुल्हन से अपना नकाब हटाने के लिए







Video देखने के लिए यहाँ click करे









कहा। इसके बाद जब दुल्हन ने अपना नकाब हटाया तब दूल्हे ने उसका चेहरा देखा।दुल्हन का चेहरा देखते ही दूल्हे को बहुत तेज़ गुस्सा आ गया।



और गुस्से में खड़ा होकर बोला कि , तुम वो लड़की नहीं हो जिसका मैंने सोचा था। मुझे माफ कर दो लेकिन मैं तुम्हारे साथ शादी नहीं कर सकता।
मैं तुम्हें तलाक देता हूं।’

Video देखने के लिए यहाँ click करे

स्थानीय अखबार ‘डेली ओकाज’ के मुताबिक “दूल्हे के मुंह से ये बात सुनते ही दुल्हन को जोरदार झटका लगा और वो रोने लग गई।




रो-रोकर उसका बुरा हाल हो गया। वहीं विवाद का पता चलते ही मेहमानों ने दूल्हे को समझाने की कोशिश की। लेकिन कुछ फायदा नहीं हुआ।

शादी की पहली रात दूल्हे ने जैसे ही हटाया दुल्हन का बुर्का..पैरों तले खिसक गई जमीन
शादी की पहली रात दूल्हे ने जैसे ही हटाया दुल्हन का बुर्का..पैरों तले खिसक गई जमीन





एक बार की बात है, एक बकरी थी। वो बहुत खुशी-खुशी अपने गांव में रहती थी। वो बहुत मिलनसार थी। बहुत सारी बकरियां उसकी सहेलियां थीं। उसकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। वो सभी से बात कर लेती थी और सभी को अपना दोस्त मान लेती थी।
सभी कुछ अच्छा चल रहा था। लेकिन एक बार वो बकरी बीमार पड़ी और इस कारण वह धीरे-धीरे कमजोर होने लगी इसलिए अब वो पूरा-पूरा दिन घर पर ही बिताने लेगी। बकरी ने जो खाना पहले से अपने लिए जमा करके रखा था, अब वो भी खत्म होते जा रहा था।




एक दिन उसकी कुछ बकरी सहेलियां उसका हाल-चाल पूछने उसके पास आईं, तब ये बकरी बड़ी खुश हुई। इसने सोचा कि अपनी सहेलियों से कुछ और दिनों के लिए वह खाना मंगवा लेगी। लेकिन वे बकरियां तो उससे मिलने के लिए अंदर आने से पहले ही उसके घर के बाहर रुक गईं और उसके आंगन में रखा उसका खाना घास-फूस खाने लगीं।




ये देखकर अब इस बकरी को बहुत बुरा लगा और समझ में आ गया कि उसने अपने जीवन में क्या गलती की? अब वो सोचने लगी कि काश! हर किसी को अपने जीवन का हिस्सा व दोस्त बनाने से पहले उसने उन्हें थोड़ा परख लिया होता है, तो अब इस बीमारी में उसकी मदद के लिए कोई तो होता।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *